अफ्रीकन स्वाइन फीवर ( African swine fever ) के बारे में

अफ्रीकन स्वाइन फीवर ( African swine fever ) के बारे में 

 संदर्भ :-

त्रिपुरा में सिपाहीजाला जिले ( Sepahijala district ) जिले के एक प्रजनन फार्म में अफ्रीकन स्वाइन फीवर ‘ ( African swine fever ASF ) के मामले सामने आने के बाद , ‘ त्रिपुरा सरकार ‘ ने बाड़े ( फार्म ) में पाले जाने वाले संक्रमित सूअरों को बड़े पैमाने पर मारने का फैसला किया है ।

अफ्रीकी स्वाइन फीवर ( ASF ) के बारे में :-

  •   ASF एक अत्यधिक संक्रामक और घातक पशु रोग है , जो घरेलू और जंगली सूअरों को संक्रमित करता है । इसके संक्रमण होने पर सूअर एक प्रकार के तीव्र रक्तस्रावी बुखार ( Hemorrhagic Fever ) से पीड़ित हो जाते है ।
  •  इसे पहली बार 1920 के दशक में अफ्रीका में देखा गया था । . इस रोग में मृत्यु दर 100 प्रतिशत के करीब होती है , और इस बुखार का कोई इलाज नहीं है ।
  •  इसके लिए अभी तक किसी मान्यता प्राप्त टीके की खोज नहीं की गयी है , इसी वजह से , संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए , संक्रमित जानवरों को मार दिया जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status