चक्रवात आसनी: Ndrf ने संभाली कमान, स्टैंडबाय पर तीनों सेना

Spread the love

Last Updated on September 27, 2022 by kumar Dayanand

चक्रवात आसनी: NDRF ने संभाली कमान, स्टैंडबाय पर तीनों सेना 

बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहा साल का चक्रवाती तूफान आसनी अंडमान निकोबार द्वीप समूह पहुंच चुका है। दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर बना दबाव का क्षेत्र अब उत्तर और उत्तर पूर्व की ओर तथा अंडमान से आगे और निकोबार द्वीप समूह की ओर बढ़ रहा है। आज शाम तक इसके तूफान में बदल जाने की आशंका है। उसके बाद यह मंगलवार को उत्तर पूर्व में बांग्लादेश और उत्तरी म्यांमार तक पहुंच सकता है। इसके असर के कारण रविवार को पोर्ट ब्लेयर में घने बादल छाए रहे और वर्षा भी हुई।

स्टैंडबाय पर तीनों सेना

तूफान की आशंका को देखते हुए अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में पर्यटन संबंधी गतिविधियां तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं। सभी स्कूल बंद रहेंगे। इसके अतिरिक्त जलयान सेवाएं भी रद्द कर दी गई हैं। इस बीच, अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में तैनात राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के बचाव दल स्थिति का सर्वेक्षण कर रहे हैं। NDRF की कई टीमों को पोर्ट ब्लेयर में तैनात किया गया है। तट के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। भारतीय सेना, नौसेना, वायु सेना और भारतीय तटरक्षक बल स्टैंडबाय पर हैं।

हेल्पलाइन नंबर जारी

चक्रवात आसनी को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। प्रशासन ने 03192-245555/232714 और टोल-फ्री नंबर – 1-800-345-2714 जारी किया है। अंडमान निकोबार द्वीप समूह में एहतियात के तौर पर 22 मार्च तक सभी तरह की पर्यटन गतिविधियां स्थगित कर दी गई हैं। सभी स्कूल कल बंद रहेंगे। नौवहन सेवाएं रद्द कर दी गई हैं। चेन्नई के लिए निर्धारित आज की जहाज सेवा भी रद्द कर दी गई है।

बांग्लादेश और पूर्वी म्यांमार से टकराने की संभावना

मंगलवार 22 मार्च को इस तूफान के उत्तर-पूर्वी बांग्लादेश और पूर्वी म्यांमार के तट से टकराने की संभावना है। निकोबार द्वीप समूह में से भारी वर्षा हो रही है और तेज हवा चल रही है। अगले दो-तीन दिनों तक तेज वर्षा होने और 90 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है। समुद्र में लहरें उठ सकती हैं। इस बीच, कल पोर्ट ब्लेयर में हल्की वर्षा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.