भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान प्राण, वायु और स्वास्थ्य विकसित किए

Spread the love

Last Updated on October 29, 2022 by kumar Dayanand

कोविड-19 संकट के बीच भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने तीन अलग-अलग प्रकार के व्यक्ति लेटेस्ट विकसित किए हैं आपको बता दें कि प्राण, वायु और स्वास्थ्य नामाचे वेंटिलेटर जरूरतों के हिसाब से विकसित किए गए हैं | साथ ही इनके व्यावसायिक उत्पादन के लिए टेक्नोलॉजी का ट्रांसफर किया जाएगा जिसके लिए इच्छुक उद्योग 15 जून से पहले आवेदन देने के लिए आमंत्रित किए गए हैं |

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान प्राण, वायु और स्वास्थ्य विकसित किए
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान प्राण, वायु और स्वास्थ्य विकसित किए

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन यानी आईएमए में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में जान गवाने वाले डॉक्टरों को कोविड-19 शहीद घोषित करने की मांग की है | आईएमए ने लिखा कि सरकार को मृतक डॉक्टरों के परिवारों की सहायता करनी चाहिए महीने कोविड-19 टीकाकरण को लेकर भ्रम फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *