सम्राट अशोक जयंती: पहले भाजपा, फिर जदयू

Spread the love

Last Updated on July 13, 2022 by kumar Dayanand

बिहार में पहले भाजपा, फिर जदयू सम्राट अशोक खास संदेश

 

राज्य ब्यूरो, पटना। सम्राट अशोक का नाम बेशक बिहार और संपूर्ण भारत ही नहीं बल्कि विश्‍व के इतिहास के लिए काफी अहम है, लेकिन राजनीतिक दलों के बीच इसकी प्रासंग‍िकता की वजह थोड़ी अलग है।

  • नौ अप्रैल को जदयू मनाएगा जयंती 

          नौ अप्रैल को जदयू सम्राट अशोक की जयंती पर बड़े स्तर पर राजधानी स्थित एसके मेमोरियल हाल में कार्यक्रम का आयोजन करेगा। महात्मा ज्योतिबा फूले समता              परिषद इस आयोजन का सहयोगी है। जदयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा व जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने मंगलवार को पार्टी प्रदेश                कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

  • उपेंद्र कुशवाहा ने उठाया पिछला वाकया 

उपेंद्र कुशवाहा ने बताया कि जदयू के इस आयोजन में पार्टी के बड़े नेताओं की भी मौजूदगी रहेगी। सम्राट अशोक की जयंती पर इस कार्यक्रम का महत्व इस मायने            में महत्वपूर्ण है कि पिछले दिनों एक लेखक ने अपनी रचना के माध्यम से सम्राट अशोक की गरिमा को गिराने का प्रयास किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.