1995, st. petersburg – 1995, सेंट पीटर्सबर्ग।

1995, st. petersburg – 1995, सेंट पीटर्सबर्ग। 

the girl and her grandmother lived on the ground floor of the house in the picture. friends often visited the girl and one of them brought her a world war ii anti-tank mine for some reason, which exploded spontaneously one day. no one was harmed by the explosion.

1995, सेंट पीटर्सबर्ग।

तस्वीर में लड़की और उसकी दादी घर के भूतल पर रहते थे। दोस्त अक्सर लड़की से मिलने जाते थे और उनमें से एक किसी कारणवश उसे द्वितीय विश्व युद्ध की टैंक रोधी खदान ले आया, जो एक दिन अनायास फट गया। विस्फोट से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

 

Leave a Reply