Hackers targeted American companies, Latest News

Spread the love

Last Updated on September 27, 2022 by kumar Dayanand

रूसी हैकर्स ने 250 अमेरिकी सरकारी एजेंसियों और कंपनियों को निशाना बनाया |

क्लाउड सेवा वितरण में अमेज़ॅन और माइक्रोसॉफ्ट की जांच से साक्ष्य। संदिग्ध रूस समर्थित हैकर्स ने सोलरवाइंड्स ओरियन मॉनिटरिंग और प्रबंधन सॉफ्टवेयर में घुसपैठ करके कम से कम 250 संघीय एजेंसियों और अमेरिका के शीर्ष उद्यमों के साथ समझौता किया है।

हाल ही में हुए साइबर हमले के दौरान 250 अमेरिकी सरकारी एजेंसियों और शीर्ष कंपनियों को निशाना बनाया गया था। हमला रूसी हैकरों द्वारा किया गया था और उन्होंने निगरानी और प्रबंधन सॉफ्टवेयर ‘सोलरविंड ओरियन’ का इस्तेमाल किया था। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, अमेज़ॅन और माइक्रोसॉफ्ट कंपनियों द्वारा क्लाउड सेवाएं प्रदान करने वाली एक जांच के प्रमाण मिले हैं।

रिपोर्ट में सीनेटर मार्क वार्नर के हवाले से कहा गया है कि पहले वह केवल इस तरह की खबरों से चिंतित थे, लेकिन अब यह बहुत डराने वाला लग रहा है। यह स्पष्ट है कि ट्रम्प प्रशासन इसे पकड़ने में विफल रहा। माइक्रोसॉफ्ट ने पिछले हफ्ते कहा कि उसकी प्रणाली में घुसपैठ की गई थी। कंपनी ने कहा कि उसने कुछ आंतरिक खातों में असामान्य गतिविधि का पता लगाया और जब इसकी समीक्षा की गई तो पाया गया कि एक खाते का उपयोग ‘स्रोत कोड’ देखने के लिए किया गया था। इन खातों की जांच करने के बाद, उन्हें हटा दिया गया।

बता दें कि शुरुआत में यह अनुमान लगाया गया था कि रूसी हैकर्स 18,000 सरकारी दफ्तरों और निजी कंपनियों पर हमला किया है। रिपोर्ट के मुताबिक हमलों के लिए जिन सोलरविंड साफ्टवेयर का प्रयोग किया गया था उन्हें पूर्वी यूरोप में डिजाइन किया गया था और अब जांचकर्ता यह पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं क्या साइबर हमलों को वहीं से अंजाम दिया गया था। बता दें कि पूर्वी यूरोप के इलाकों में रूसी खुफिया एजेंसी की जड़े काफी गहरी हैं। साइबरसिक्योरिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी (सीआइएसए) ने कहा है कि या तो संघीय एजेंसियों को हैक किए गए सोलरविंड ओरियन साफ्टवेयर को अपडेट करना होगा नहीं तो उसे अपनी सभी एप को आफलाइन ले जाना होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.