Hindi Story – हिंदी कहानी – फालतू के गपशप में टाइम और एनर्जी बर्बाद न करें

Spread the love

Last Updated on September 30, 2022 by kumar Dayanand

Hindi Story – हिंदी कहानी – फालतू के गपशप में टाइम और एनर्जी बर्बाद न करें 

प्राचीन ग्रीस में, सुकरात नाम के बहुत ही उच्च ज्ञान रखने वाले सम्माननीय दार्शनिक थे।

एक दिन सुकरात का कोई परिचित उनसे मिला और कहा, “आपको पता हैं मैंने आपके दोस्त के बारे में क्या सुना हैं?”

सुकरात ने जवाब दिया, “एक मिनट रुको जरा। इससे पहले की आप मेरे दोस्त के बारे में बात करे, में आपकी बात जो कहने आने हैं, उसका फ़िल्टर टेस्ट करना चाहता हूँ। यह मेरा ट्रिपल फ़िल्टर टेस्ट हैं।
पहला फ़िल्टर ‘च’ का हैं। क्या आप पूरी तरह sure हो कि जो भी आप मुझे बताने वाले हैं वो बात पूरी तरह से सच हैं?”

“जी नहीं, यह मैंने कही से सुना था।” उस आदमी ने कहा।

सुकरात ने कहा, “अच्छा, आप नहीं जानते हैं कि यह सच हैं या नहीं। ठीक हैं मेरा दूसरा फ़िल्टर ‘च्छा’ का हैं। क्या मेरे दोस्त के बारे में अच्छा बताने वाले हैं।”

“नहीं, इसके विपरीत हैं।” आदमी ने कहा।

सुकरात ने आगे कहा, “अच्छा, आप मेरे दोस्त के बारे में बुरा कहना चाहते हैं, जबकि आप निश्चित नहीं हैं कि यह सत्य हैं।
ठीक हैं , अभी तीसरा फ़िल्टर ‘पयोगिता’ का बाकी हैं। क्या आप मेरे दोस्त के बारे में मुझे बताना चाहते हैं कि मेरे लिए उपयोगी हैं?”

आदमी ने कहा, “नहीं वास्तव में उपयोगी नहीं हैं।”

सुकरात ने कहा, “ठीक हैं, यदि आप मुझे जो बताना चाहते हैं वह न तो त्य है, न ही च्छा है, न ही पयोगी है, तो मुझे यह क्यों बताना चाहते हैं?”

अब आदमी ने मन में सोचा कि मैंने पंगा ही गलत आदमी से ले लिया हैं, यहां से निकलने में ही भलाई हैं।

शिक्षा : दोस्तों इस छोटी सी कहानी से बड़ी सी सिख ले सकते हैं कि फालतू की गपशप करना आपके टाइम और एनर्जी की बर्बादी हैं साथ ही उनकी भी जिन लोगो को आप ये बता रहे हो और जिनके बारे में आप बात कर रहे हो।

इसीलिए आप अपने मूल्यवान समय को अपने आपको निखारने में लगाए, न की गपशप में…!

By : Dayanand Sir Alias Deepak Sir

Leave a Reply

Your email address will not be published.