stock market today | stock market live news update

Table of Contents

part-3. इस कंपनी का मार्केट कैप 35000 करोड़ रुपये है, जबकि नेटवर्थ 28000 करोड़ रुपये है।

इसका मतलब है कि बाजार ने इसकी क्षमता के अनुसार कीमत नहीं दी है। कंपनी ने तीसरी तिमाही में लगभग 3000 करोड़ रुपए का ibitda कमाया है। इस प्रकार इस पूरे वित्त वर्ष में ibitda 12000 करोड़ रुपये होना चाहिए। क्या अब 35000 करोड़ रुपये का मार्केट कैप जायज होगा? कंपनी ने इस वर्ष 31 मिलियन टन लौह अयस्क का उत्पादन किया है और 2 वर्षों में 67 मिलियन टन तक पहुंचने की उम्मीद है, जिसका मतलब है कि 2 वर्षों के लिए 50 फीसद से अधिक की भारी वृद्धि। लौह अयस्क से जुड़े कारोबारों के लिए स्टील व स्टील की बढ़ती कीमतों आदि में लोह अयस्क का उत्पादन बढ़ना काफी महत्व रखता है।

दिलचस्प परिदृश्य उत्पन्न हो रहा है। आम तौर पर जब हम किसी कंपनी की वैल्यूएशन करते हैं, तो 10x ibitda वैल्यूएशन देते हैं। यहाँ चूंकि ibitda 12000 करोड़ रुपये (सालाना) है, इसलिए इसका एम-कैप 1,20,000 करोड़ रुपये का होना चाहिए, न कि वर्तमान मार्केट कैप 35000 करोड़ रुपये। यह तो एक सपाट रीडिंग है। कुछ ऐसे तथ्य भी हैं, तो यह बताते हैं कि कंपनी का शेयर कम कीमत पर है और दोगुना या तिगुना हो सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इतनी अच्छी सरकारी कंपनी में एफपीआई के पास केवल 14 करोड़ शेयर हैं और हमें विश्वास है कि इसमें कई गुना वृद्धि होगी।

शेयरों का चयन करना एक कला है और इसमें मजबूत तर्कों की आवश्यकता होती है। हम nmdc पर एक नज़र डालने और यहाँ बताए गए तथ्यों पर विचार करने की सलाह देते हैं। हमें उस दिन का इंतजार होगा, जब सरकार एनएमडीसी को बेचने की घोषणा करेगी, क्योंकि वह खनन क्षेत्र में 100 फीसद एफडीआई की घोषणा कर चुकी है। ऐसा ही एक बयान आने की आवश्यकता है और स्टॉक वास्तविक मूल्य को पकड़ने के लिए उड़ान भरेगा। अंडर वैल्यूएशन लंबे समय तक नहीं रह सकती है। हमने इसी अनुसार सेल (sail) को 28-29 रुपये पर सजेस्ट किया था, जो अब 68-69 रुपये पर आ गया है। इसलिए एनएमडीसी भी ऐसा एक शेयर होना चाहिए।

लेखक सीएनआई रिसर्च (cniresearchltd) के सीएमडी हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।

Dayanand kumar

Dayanand Kumar Board Of Directors:- Chairman & Managing Director, CEO & Whole Time Director, Whole Time Director, Audit Committee, Shareholders/ Investor Grievance Committee & Remuneration Committee ...

Leave a Reply